Free Register !!

What is Foley Artist and how magic of sound is created in film?

Home / Blogs / What is Foley Artist and how magic of sound is created in film?

फोली आर्टिस्ट क्या है और फिल्मों में साउंड का जादू कैसे उत्पन्न किया जाता है?

What is Foley Artist and how magic of sound is created in film?

फिल्मों में साउंड का बहुत ही महत्व है | कोई भी फिल्म देखते समय दर्शक चार तरह के आवाज का आनंद लेते हैं गाना (Song), संगीत (Music), संवाद (Dialogue), और आवाज (Sound) |  भारत में बनने वाली लगभग हर फिल्म में गाना होता है | कुछ गाने तो बहुत ही अच्छे होते हैं और कभी-कभी अच्छे गानों की वजह से फिल्म कामयाब हो जाती है | फिल्म संगीत से मतलब है फिल्म की कहानी तथा हर सिन के अनुसार सुनाई देने वाला संगीत का धुन | यह संगीत दर्शकों में भावना उत्पन करता है जो दर्शकों को फिल्म की कहानी से जोड़ता है | संवाद वह है जो फिल्म के विभिन्न अभिनेताओं और अभिनेत्रियों द्वारा बोला जाता है | फिल्म में आवाज से मतलब है जो भी स्क्रीन पर दिख रहा है उसका आवाज तथा उससे जुड़ा आवाज जैसे अभिनेतायों, अभिनेत्रियों और लोगों के चलने का आवाज, सामानों के गिरने का आवाज, गाड़ियों के गिरने का आवाज, आंधी चलने का आवाज, पानी बरसने का आवाज, आग लगने का आवाज वगैरह वगैरह |

फिल्मों के कुछ आवाज साउंड रिकार्डिस्ट द्वारा फिल्म शूटिंग के लोकेशन पर रिकॉर्ड किये जाते हैं | कुछ आवाज साउंड रिकार्डिस्ट कुछ जगहों पर जा कर रिकॉर्ड करते हैं जो उपलब्ध है जैसे रात में झींगुर के बोलने की आवाज, स्टेडियम में लोगों की शोर की आवाज, ट्रेन की हॉर्न की आवाज इत्यादि | मगर बहुत सारे साउंड जो बहार नहीं मिल पाते हैं और शूटिंग लोकेशन पर रिकॉर्ड नहीं किये जा सकते हैं उसे स्टूडियो में उत्पन्न किया जाता है और रिकॉर्ड किया जाता है|

फोली आर्टिस्ट वह है जो फिल्म के लिए स्टूडियो में आवाज उत्पन्न करता है | जैसे अभिनेता की सीढ़ियों पर चलने की आवाज, किसी गिलास के जमीन पर गिर कर टूटने के आवाज, साइकिल के चलने के आवाज इत्यादि |

एक अच्छे फोली स्टूडियो में बहुत सारे सामन रखे होते हैं | फोली आर्टिस्ट विभिन्न प्रकार के वस्तुओं का इस्तेमाल करके आवाज उत्पन्न  करता हैं जिसे साउंड रिकार्डिस्ट या स्टूडियो में उपस्थित टेकनीशियन कंप्यूटर में साउंड रिकॉर्डिंग सॉफ्टवेर के द्वारा रिकॉर्ड करते हैं |

फोली आर्टिस्ट का कार्य एक कला है | उसके द्वारा बहुत ही बारीकी से काम होता है | शूटिंग किये हुए सिन को देख कर साउंड उत्पन किया जाता है | यह कई ट्रैक में रिकॉर्ड होता है और बाद में सभी को मिलाकर फाइनल ट्रैक बनाया जाता है | साउंड मिक्सिंग के बाद आवाज पूरी तरह से दमदार हो जाती  है | कई बार किसी आवाज को उत्पन्न करना एक चुनौती वाली बात होती है | फोली आर्टिस्ट किसी साउंड को उत्पन करने के लिए कई तरह से सोचते है और अंत में उचित वस्तु का उपयोग कर आवाज निकालते हैं| कुछ फोली आर्टिस्ट का कई वर्षों का अनुभव होता है कि बहुत अच्छे और सटीक साउंड उत्पन करते हैं|

फोली आर्टिस्ट फीचर फिल्मों के अलावे विज्ञापन फिल्मों, डाक्यूमेंट्री फिल्मों, सीरियलों इत्यादि के लिए भी कार्य करते हैं | कुछ हिंदी फिल्में जिसमें बहुत ही अच्छा आवाज दिया गया है जैसे शोले, लगान, ओमकारा, गेम, गैंग्स ऑफ वास्सेपुर, और बाजीराव मस्तानी |

यूट्यूब चैनल JoinFilms द्वारा फोली आर्टिस्ट पर एक विडियो तैयार किया गया है जिसका लिंक निचे है| इस विडियो को देखकर फोली आर्टिस्ट के कार्य को अच्छा से समझा जा सकता है |

https://www.youtube.com/watch?v=D-6YwvHE3D8

by Sudhir Kumar

  Wed, Jun 26, 2019     Administrator India  
Administrator India