Free Register !!

सिनेमा में संघर्ष, सिनेमा का सच

Home / Blogs / सिनेमा में संघर्ष, सिनेमा का सच

सिनेमा में संघर्ष, सिनेमा का सच

Struggle in cinema, Truth of cinema

ठीक है आप सिनेमा में काम करना चाहते हैं! आप टेलीविजन पर विज्ञापन (Advertisement) देखते हैं, रिअलिटी शोस (Reality Shows) देखते हैंऔर धारावाहिक देखते हैं | आप सिनेमा हॉल में और टेलीविजन पर सिनेमा देखते हैं | आप की इच्छा होती है कि आप भी उसमे काम करें |मगर कैसे? आपको काम कौन देगा ? आप किस से काम मांगेंगे ? प्रोडूसर से, निर्देशक से, कैमरामैन से, एडिटर से या किसी और से ? आपको काम ही नहीं मिलेगा तो आप अपना सपना कैसे पूरा कर सकते हैं जो आपने देखा है !

सबसे पहला और महत्वपूर्ण प्रश्न उन सबके लिए है, जो सिनेमा में करियर बनाना चाहते हैं, कि काम कैसे मिलेगा ?

फिल्म इंडस्ट्री एक ऐसी जगह है जो दूर से देखने में सुहावना लगता हैं, दिल खुश हो जाता है और लगता है कि नाम और पैसा कमाना बहुत आसान है | मगर ये सब इतना आसान नहीं है | यदि आपका कोई गोडफादर फिल्म इंडस्ट्री में नहीं है तो आपका सिर्फ एक ही गोडफादर है और वो है “संघर्ष” और आपका ज्ञान | फिल्म इंडस्ट्री एक ऐसे फैक्ट्री की तरह है जहाँ लोग अंदर एक दूसरे के साथ मिलकर काम कर रहे होते हैं और पैसे कमा रहे होते हैं मगर दूसरे जो उस फैक्ट्री में घुसना चाहते हैं उन्हें अपना स्थान बनाने के लिए बहुत मेहनत की आवश्यकता होती है | फिल्म इंडस्ट्री में जब आपके शुरुआती दिन होते हैं तो उस वक्त लोगों का कुछ व्यवहार आपको बहुत दुःख देता है | आप सिनेमा पसंद करते, आप सिनेमा में इस्तेमाल होने वाले हर कला को पसंद करते हैं; सिनेमा में काम करने वाले लोगों की आप इज्ज़त करते हैं; आपको लगता है कि यदि आपको मौका मिले तो आप भी बहुत अच्छा कर सकते हैं; मगर जब आप उस इंडस्ट्री में घुसने की कोशिश करते हैं तो आप घुस नहीं सकते | आपके लिए दरवाजे बंद नजर आते हैं और यहीं से आपके संघर्ष की शुरुआत होती है|बहुत से ऐसे समाचारपत्र (Newspapers), पत्रिकाएँ (Magazines), या वेबसाइट (Websites) हैं जहाँ नौकरियों की भरमार है मगर वे सिनेमा में काम की बहुत कम बात करते हैं और आपको पता ही नहीं चलता कि सिनेमा में काम कहाँ है | आप बहुत अच्छे फिल्म संस्थान से पास आउट (Pass-out) हैं, आप फिल्म संस्थान में अच्छा निर्देशन सीखे, अच्छा सिनेमैटोग्राफी सीखे, अच्छा एडिटिंग सीखे मगर फिल्म संस्थान आपको ये पूर्ण रूप से नहीं सिखाती कि आपको काम कैसे पाना है, सिर्फ आपको कुछ संपर्क नंबर (Contact Numbers) मिल जाता है और आपको एक फ्रीलांसर (Freelancer) बना के छोड़ दिया जाता है | मगर आपको काम ही नहीं मिलेगा तो आप फ्रीलांसिंग (Freelancing) कैसे करेंगे ?

मान लिया कि किसी तरह आप कहीं किसी फिल्म सेट (Film Set) पर जाते हैं और हर लोगों को अपना काम करते देखते हैं - निर्देशन वाले अपना काम कर रहे हैं, कैमरा वाले अपना काम, लाइट वाले अपना काम, आर्ट वाले अपना काम, प्रोडक्शन वाले अपना काम और आप सोचते हैं कि यदि आपको यहाँ कोई काम मिल जाये तो आप कैसे करेंगे, आपको तो काम आता ही नहीं है क्योंकि आप तो बिलकुल अनाड़ी नये हैं |

आप ऐसे कई कहानी सुने होंगे हैं कि कोई फिल्म में काम करने गया और वर्षों काम की तालाश में लगा रहा, जैसे-तैसे अपनी जिंदगी व्यतीत किया; बहुत संघर्ष किया; मगर फिर भी कामयाबी नहीं मिली और आपको डर और चिंता होती है कि आपका क्या होगा ?

आप ऐसे कई कहानी सुने होंगे हैं कि कई लोग कई महीनो, यहाँ तक कि वर्षों, मुफ्त में काम किया सिर्फ काम सिखने के लिए और आप सोचते है कि तो फिर उनका खर्चा कैसे चलता है; आप सोचते हैं कि फिल्म इंडस्ट्री में काम की कोई गारंटी (guarantee) नहीं है | आप को महीनो बिना पैसे के काम करना पड़ सकता है उसमे भी कष्ट सहन करके |

फिल्म इंडस्ट्री ऐसी जगह है जहाँ बेरोजगारी जिंदगी का हिस्सा है | आपके पास सालों भर काम नहीं रहेंगे | एक प्रोजेक्ट खत्म हुआ कि दूसरे प्रोजेक्ट पाने की कोशिश करनी पड़ेगी और यह जिंदगी भर चलती रहेगी | ये बिलकुल सरकारी नौकरी की तरह नहीं है कि एक बार लग गई तो लग गई और लाइफ सेट |

ऊपर की सारी बातों को जानने के बाद आपको डर महसूस होता है, आप तनाव महसूस करते हैं, और आपको चिंता होने लगती है कि फिल्म इंडस्ट्री में इतना संघर्ष है तो आपको वहाँ तक पहुँचने में कितना समय लगेगा जो आपका सपना है और आप फिल्म इंडस्ट्री में नहीं जाने का फैसला ले लेते हैं |

अतः इसके पहले की हम बातें करें कि फिल्म इंडस्ट्री में जाने के लिए क्या करना है, किस फिल्म संस्थान में जाना है या फिल्म संस्थान नहीं जाना है, कहाँ काम ढूंढना है और कैसे टॉप पर पहुँचाना है कुछ बहुत ही महत्वपूर्ण बातों को जान लेना आवश्यक है जो आपको कामयाबी दिलाएगी | मैं आपसे कुछ प्रश्न कर रहा हूँ, आप इसका जबाब अच्छी तरह से सोच समझ कर पूरी ईमानदारी से दीजिए:

  1. क्या आप अपनी मर्ज़ी से पूरी तरीके से निर्णय ले लिया है कि आप फिल्म इंडस्ट्री में ही काम करना चाहते हैं ?
  2. क्या आप बिना समय का परवाह किये घंटो कठिन मेहनत करने के लिए तैयार हैं ?
  3. क्या आप मनसौखिया नहीं बल्कि फिल्म इंडस्ट्री में करियर बनाना चाहते हैं ?
  4. क्या आपके पास जबर्दश्त इच्छाशक्ति है कि चाहे कितना भी तकलीफ हो पीछे नहीं हटना है ?

यदि आपका जबाब “नहीं” है तो कृपया आप फिल्म इंडस्ट्री में मत आईये | अच्छा होगा कि आप कोई सरकारी नौकरी कर लीजिए या कोई प्राइवेट कम्पनी में नौकरी या फिर कोई कारोबार शुरू कर लीजिए | फिल्म इंडस्ट्री ऐसी जगह है जो दूर से ही अच्छा लगता है | अंदर बहुत संघर्ष है | आपको कई बार डांट खानी पड़ेगी, भूखे रहना पड़ेगा, कई बार रात को सोना नहीं पड़ेगा, टाइम-टेबल का कोई हिसाब-किताब नहीं होगा, हर पर्व में आप अपने घर में नहीं होंगे इत्यादि|

यदि आपका जबाब “हाँ” है तो आपको फिल्म इंडस्ट्री में टॉप तक पहुँचने से कोई नहीं रोक सकता है | मान लीजिए कि फिल्म इंडस्ट्री समुद्र है और इसमें तैरने का मन बना लिए हैं तो फिर डूबने का डर तो छोड़ना ही पड़ेगा बस याद रखना पड़ेगा कि हाँथ और पैर चलते रहना चाहिए और किनारा तो जरुर मिलेगा | याद रखिये जीवन सघर्ष से भरा हुआ है | जोखिम तो लेना पड़ेगा | आप फिल्म इंडस्ट्री में आयेंगे, आपको एक काम मिलेगा, फिर दूसरा, फिर तीसरा, आपकी जानपहचान बढेगी, आपको और काम मिलेगा, आप अच्छा काम करने लगेंगे, आपको अच्छा पैसा मिलने लगेगा और साथ में नाम भी |

मगर एक बार फिर मैं आपको बता दूँ कि फिल्म इंडस्ट्री में कोई ऐसी चीज नहीं है जो आपको सीधे शिखर तक पहुंचा देगा | मैं आपको डरा नहीं रहा हूँ बल्कि सिनेमा में संघर्ष और सिनेमा के सच का हकीकत बता रहा हूँ | आपको महीनो और वर्षों कठिन मेहनत करना होगा और मैं वादा करता हूँ कि कामयाबी आपके कदम चूमेगी | यदि आपका जबाब हाँ है तो चलिए अब आगे बातें करते हैं कि वहाँ तक कैसे पहुँचना है |

by Sudhir Kumar

https://www.clipartmax.com/middle/m2H7K9m2K9i8N4b1_lights-camera-action-gif/

  Sun, May 19, 2019     Administrator India  
Administrator India