Free Register !!

सिनेमा का कैमरा और लाइटिंग विभाग क्या है ?

Home / Blogs / सिनेमा का कैमरा और लाइटिंग विभाग क्या है ?

सिनेमा का कैमरा और लाइटिंग विभाग क्या है ?

What is camera and lighting department of cinema?

सिनेमा का कैमरा और लाइटिंग विभाग एक बड़ा विभाग होता है | कैमरा और लाइट तथा इससे जुड़े सारे चीजों का कार्यभार इसी विभाग पर होता है | इस विभाग में कई लोग मिलकर काम करते हैं | इस विभाग का मुख्य व्यक्ति डिरेक्टर ऑफ फोटोग्राफी होता है जिसे सिनेमेटोग्राफर या कैमरामन भी कहते हैं |

डिरेक्टर ऑफ फोटोग्राफी या सिनेमेटोग्राफर या कैमरामन (Director of Photography(DOP) or Cinematographer or Cameraman)

DOP फिल्म के कैमरा और लाइटिंग क्रू (Crew) का शीर्ष होता है|DOP निर्देशक के साथ मिलकर लाइटिंग और शॉट (Shot) के फ्रेमिंग (Framing) का निर्णय लेता है| साधारणतः निर्देशक DOP को बताता है कि वह सीन (Scene) या शॉट (Shot) को कैसा चाहता है और फिर DOP सही लाइटिंग, कॉमपोजिशन (Composition), लेंस (Lens), और फिल्टर (Filter) चुनता है ताकि वह निर्देशक की मांग को पूरा कर सके| एक अच्छा कैमरामैन वही है जो फिल्म स्क्रिप्ट को ठीक से समझता है| वह फिल्म के हर दृश्य में निर्देशक की सोच और भावना को महसूस करता है और फिर अपनी रचनात्मकता के द्वारा विभिन्न कैमरा यन्त्रों की मदद से दृश्य को प्रभावशाली बनाता है|

ऑपेरेटीव कैमरामैन (Operative Cameraman)

मुख्यतः DOP ही कैमरा चलाता है| मगर कभी कभी DOP के निर्देशन के अंतर्गत सहायक कैमरामैन भी कैमरा चलाता है जिसे ऑपेरेटीव कैमरामैन कहते हैं|

स्टेडीकैम ऑपेरटर (Steadicam Operator)

स्टेडीकैम ऑपेरटर वह व्यक्ति है जो विशेष तौर पर स्टेडीकैम को चलाने में कुशल होता है| कभी कभी DOP भी स्टेडीकैम चलाता है| मगर मुख्यतः स्टेडीकैम ऑपेरटर अलग से ही आता है जिसे स्टेडीकैम चलाने का अच्छा अनुभव होता है|

अस्सोसिएट कैमरामैन (Associate Cameraman)

अस्सोसिएट कैमरामैन DOP(Director of Photography) का बहुत ही विश्वसनीय सहयोगी होता है| इसका मुख्य कार्य होता है DOP के आदेश पर अपने सहयोगियों (Assistants) के साथ मिलकर सीन (Scene) की लाइटिंग करना| शूटिंग लोकेशन पर कैमरा ईक्यूपमेंट (Camera Equipment) और सिनेमाटोग्राफी विभाग के हर ईक्यूपमेंट और चीजों को समय से उपलब्ध करना ताकि शूटिंग के समय किसी चीज की कमी न हो|

सहायक कैमरामैन (Assistant Cameraman)

सहायक कैमरामैन अपने DOP और अस्सोसिएट कैमरामैन के आदेशानुसार काम करता है| यह DOP को शूटिंग में मदद करता है साथ ही साथ यह एक प्रशिक्षु (Intern or Trainee) होता है जो काम के साथ साथ सीखता रहता है|

फोकस पुल्लर (Focus Puller)

फोकस पुल्लर की जिम्मेवारी होती है कैमरा के फोकस को संभालना| कभी कभी सहायक कैमरामैन भी फोकस पुल्लर होता है|

कैमरा अटेंडेंट (Camera Attendant)

कैमरा अटेंडेंट कैमरा रेन्टल हाउस (Camera Rental House) के तरफ से कैमरा ईक्यूपमेंट (Equipment) के साथ आता है| इसकी जिम्मेवारी होती है कैमरा को शूटिंग लोकेशन पर सही सलामत लाना, शूटिंग के समय इसकी हिफाज़त करना, DOP के आदेशानुसार एक जगह से दूसरी जगह पर ले जाना, और शूटिंग के बाद सही सलामत कैमरा रेन्टल हाउस पर कैमरा को ले जाना|

डीजिटल ईमेंजिंग टेकनिशीयन (Digital Imaging Technician)

कैमरा के साथ DIT (डीजिटल ईमेंजिंग टेकनिशीयन, Digital Imaging Technician) आता है जो DOP को जरुरत पड़ने पर कैमरा के अंदर के फंक्शन (Function) को बताता है ताकि जो शूट हो रहा है उसमें कोई विशेष बदलाव किया जा सके|DIT शूटिंग किये डाटा का भी जिम्मेवारी लेता है ताकि डाटा सही सलामत एडिटर के पास पहुँच जाए|

गैफर और लाइटमेंन (Gafferand Lightmen)

गैफर वह व्यक्ति है जो लाइटिंग विभाग का मुखिया होता है जो लाइटिंग के लिए जिम्मेवार होता है| लाइटिंग विभाग में काम कर रहे सारे लोग उसके इशारे पर काम करते हैं|DOP और गैफर साथ-साथ मिलकर काम करते हैं| जिस प्रकार का लाइटिंग DOP को चाहिए वह गैफर को बोलता है और गैफर अपने लाइट के लोगों (Lightmen) के सहयोग से उसे पूरा करता है|

ग्रिपमेन (Gripmen)

ग्रिप में वे सारे लोग होते हैं जो क्रेन (Crane), ट्रैक (Track) और ट्रोली (Trolley) और दूसरे भारी सामानों को DOP के आदेश पर सेट्टिंग (Setting) के लिए जिम्मेवार होते हैं|

एलेक्ट्रिशीयन (Electrician)

एलेक्ट्रिशीयन पूरे शूटिंग सेट पर इलेक्ट्रिक के लिए जिम्मेवार होता है| यह लाइटिंग विभाग को लाइट उपलब्ध कराने के साथ-साथ सारे जगहों पर लाइट की व्यवस्था करता है साथ ही साथ लाइटिंग के सुरक्षा (safety) के लिए भी जिम्मेवार होता है|

इसप्रकार विभाग के लोग अपनी-अपनी जिम्मेवारियाँ सम्भालते हैं और फिल्म की शूटिंग में मदद करते हैं| टेलिविजन के शो जैसे रिआलिटी शो, सीरियल, इत्यादि में भी लगभग यही प्रक्रिया होती है|

by Sudhir Kumar

  Mon, Jun 24, 2019     Administrator India  
Administrator India