Free Register !!

टीवी एंकर कैसे बने ?

Home / Blogs / टीवी एंकर कैसे बने ?

टीवी एंकर कैसे बने ?

How to Become TV Anchor?

न्यूज़ चैनलों, स्टेज शोज़, टी०वी० शोज़, इन्टरनेट विडियोज़, इत्यादी के बढ़ने से एक अच्छे न्यूज़ एंकर की मांग हर रोज बढ़ती जा रही है | ऐसे में एंकरिंग के क्षेत्र में एक बेहतर करियर बनाया जा सकता है| एंकरिंग में पैसे के साथ-साथ नाम व शोहरत दोनों ही मिलती है| इस लेख में एक एंकर के रूप में करियर कैसे बनायें, एंकरिंग में करियर बनाने के लिए क्या करना पड़ता है, एंकर क्या है और इसके कौन-कौन से कार्य होते हैं, इस क्षेत्र में क्या-क्या करियर के संभावनाएं हैं, एक एंकर की सैलरी कितनी होती हैं, एंकर में करियर बनाने के लिए क्या शैक्षिक योग्यता की जरुरत है, एंकर में रोजगार के अवसर क्या हैं, इत्यादि के बारे बातें करेंगे |

सबसे पहले यह जानें कि एंकर किसे कहते हैं ? एंकर कई प्रकार के होते हैं या यह कह सकते हैं कि एक एंकर के कई काम होते हैं | एंकर जो टेलिविजन में समाचार पढ़ता है, समाचारों का विश्लेषण करता हैं या समाचारों और घटनाओं को बताता है उसे टेलिविजन एंकर कहते हैं | टी०वी० चैनलों, स्टेज शोज़, टी०वी० शोज़, इन्टरनेट विडियोज़, इत्यादि में कार्यक्रम के संचालक को एंकर कहते हैं | दुसरे शब्दों में दर्शकों को कार्यक्रम के बारे में परिचित कराना तथा किसी प्रोग्राम को प्रस्तुत करने या संचालित करने की कला ही एंकरिंग है |

एक एंकर के कई कार्य होते हैं | न्यूज़ टेलिविजन के एंकर क्षेत्रीय या राष्ट्रीय भाषा में समाचारों को पढ़ते हैं तथा उसका विश्लेषण भी करते हैं | कार्यक्रम के एंकर किसी कार्यक्रम के संचालन में माहिर होते हैं जैसे पुरस्कार शोज़, नाच-गान शोज़, कॉमेडी शोज़, रियलिटी शोज़, कुकिंग शोज़, खेलकूद शोज़, वार्तालाप शोज़, इत्यादि | एंकर दर्शकों को कार्यक्रम में बांधे रखते हैं | एक एंकर उत्साही, प्रसन्चित, तथा सक्रिय होता है और उसे कार्यक्रम के विषय में जानकारी होता है | कार्यक्रम की सफलता एंकर के संचालन पर भी निर्भर करता है |

एक अच्छे एंकर में कई गुण होने चाहिए जैसे आवाज अच्छी होनी चाहिए, भाषा का ज्ञान होना चाहिए, उचारण अच्छी होनी चाहिए, जिस क्षेत्र में कार्य करना है उस क्षेत्र का ज्ञान होना चाहिए, कैमरा अनुकूलता होनी चाहिए, शारीरिक रूप से अच्छा दिखना चाहिए, शारीरिक भाषा अच्छी होना चाहिए, हंसमुख और उत्साही होना चाहिए, इत्यादि |

एक एंकर को जॉब के अवसर टेलिविजन में मिलता है | इसके अलावे पुरस्कार शोज़, नाच-गान शोज़, कॉमेडी शोज़, रियलिटी शोज़, कुकिंग शोज़, खेलकूद शोज़, वार्तालाप शोज़, और इस प्रकार से जुड़े कार्यक्रम में मिलता है |

एक एंकर मासिक वेतन पर कार्य करता है | साथ ही साथ कई एंकर पारिश्रमिक मेहनताना पर काम करते हैं | अर्थात कैसा कार्यक्रम होता है और जितना अनुभव और ज्ञान होता है उसके आधार पर पैसे मिलते हैं |

एंकरिंग में करियर बनाने के लिए कम से कम बारहवीं पास होना आवश्यक है | बारहवीं के बाद एंकरिंग में डिप्लोमा करके एंकरिंग का कार्य शुरू किया जा सकता है | बारहवीं के बाद पत्रकारिता और जर्नलिज्म में स्नातक करके एंकर बना जा सकता है | बारहवीं के बाद ग्रेजुएशन करके एंकर बना जा सकता है | एंकरिंग टेलिविजन, फिल्म और कला से भी जुड़ा क्षेत्र है | अतः बिना डिप्लोमा या डिग्री के भी एंकर बना जा सकता है यदि व्यक्ति में एंकरिंग का गुण है | मगर कुछ टेलिविजन चैनलों, प्रोडक्शन हाउस, संस्थाओं, और सरकारी विभागों जैसे दूरदर्शन चैनल में डिप्लोमा और डिग्री के बिना कार्य मिलना मुश्किल हो सकता है |

एंकरिंग के पढ़ाई के लिए बहुत सारे इंस्टिट्यूट भारत में हैं जैसे – एशियन अकैडमी ऑफ़ फिल्म एंड टेलिविजन नोएडा उत्तरप्रदेश, IAAN इंस्टिट्यूट ऑफ़ मास कम्युनिकेशन नई दिल्ली, IIMC नई दिल्ली, गार्डन सिटी कॉलेज बंगलुरु, भारतीय विद्या भवन नई दिल्ली, इत्यादि |

by Sudhir Kumar

  Mon, Jun 24, 2019     Administrator India  
Administrator India