Free Register !!

फिल्म डायरेक्टर कैसे बनें ?

Home / Blogs / फिल्म डायरेक्टर कैसे बनें ?

फिल्म डायरेक्टर कैसे बनें ?

How to Become Film Director?

हर किसी का अलग-अगल सपना होता है, कोई एक्टर बनना चाहता है तो कोई डायरेक्टर, कोई सिंगर तो कोई मॉडल, कोई कैमरामैन तो कोई एडिटर | फिल्म इंडस्ट्री में संपर्क कैसे बनायें, अपनी पहचान कैसे बनायें, असिस्टेंट डायरेक्टर कैसे बनें, डायरेक्टर कैसे बनें, इसकी जानकारी होना आवश्यक है |

फिल्म इंडस्ट्री, एक बहुत बड़ी इंडस्ट्री है, इसमें लाखों लोग काम करते हैं बिलकुल वैसे जैसे मार्केट इंडस्ट्री जहाँ अलग अलग तरह के कई विभाग होते हैं | सिनेमा में भी कई विभाग होते हैं और हर विभाग में लोग अपना अपना काम करते हैं जैसे कैमरा, म्यूजिक, साउंड, एडिटिंग, इत्यादि | डायरेक्शन फिल्म का सबसे महत्वपूर्ण विभाग है क्योंकि यह सबसे आगे आगे चलता है और इसका नेता डायरेक्टर होता है |

फिल्म डायरेक्टर बनने के लिए आपमें कुछ महत्वपूर्ण गुण होने चाहिए जैसे आपको फिल्म और एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में रुची होनी चाहिए, अधिक से अधिक कहानियाँ, उपन्यास, घटनाएँ आदि पढ़ने में रुची होनी चाहिए, कई भाषायों और देशों के फिल्मों को देखना चाहिए, फिल्म बनाने के टेक्नोलॉजी का ज्ञान होना चाहिए और उसे सिखने का लगन होना चाहिए, फिल्म मेकिंग से जुड़े क्षेत्रों में रुची होनी चाहिए, इत्यादि | आपमें एक लीडरशिप का गुण होना चाहिए साथ ही साथ सबके साथ मिलकर काम करने आना चाहिए क्योंकि फिल्म मेकिंग एक यूनिटी का काम है और कई लोगों के सहयोग से फिल्म बनकर तैयार होता है |

हर साल संकडों विद्यार्थी फिल्म स्कूल या फिल्म इंस्टिट्यूट से पास होते हैं या बिना फिल्म की पढाई किये भी फिल्म इंडस्ट्री में करियर बनाने के लिए आ जाते हैं | अतः अन्य क्षेत्रों की भांति इस क्षेत्र में भी भीड़ है और जबरदस्त प्रतियोगिता है | मगर आप एक सुनियोजित तरीके से काम करते हैं तो फिल्म डायरेक्टर बनना कठीन नहीं है |

वैसे तो आपको एक अच्छा फिल्म डायरेक्टर बनने के लिए किसी अच्छा फिल्म स्कूल या फिल्म इंस्टिट्यूट से डायरेक्शन का कोर्स करना चाहिए क्योंकि यह एक तरीका है डायरेक्टर बनने से पहले फिल्म बनाने की बारीकी जानने का | फिल्म डायरेक्टर बनने के लिए सबसे पहले आपको किसी भी विषय में ग्रेजुएशन करना है | उसके बाद किसी भी फिल्म संस्थान से फिल्म डायरेक्शन में डिप्लोमा करना है | भारत में कुछ अच्छे फिल्म संस्थान हैं जैसे भारतीय फिल्म और टेलिविजन संस्थान पुणे, सत्यजित रे फिल्म और टेलिविजन संस्थान, कोलकाता, एल० वी० प्रसाद फिल्म एन्ड टीवी अकैडमी चेन्नई, इत्यादि | हर साल इन संस्थानों में नामांकन के लिए फॉर्म निकलता है | आप अपनी योग्यता के अनुसार किसी भी संस्थान में फॉर्म भर सकते हैं | नामांकन के लिए एक प्रवेश परीक्षा होती हैं जिसे पास करना अनिवार्य है | अच्छे फिल्म संस्थानों में मात्र कुछ ही सीट होते हैं और वो भी आरक्षण के आधार पर बंटे होते हैं | अतः प्रवेश परीक्षा में अच्छे अंकों से पास करने के लिए उचीत तैयारी का होना आवश्यक है | प्रवेश परीक्षा में प्रश्न सिनेमा, कला, संस्कृति, साहित्य इत्यादि से पूछे जाते हैं | डिप्लोमा पूरी हो जाने के बाद आप किसी फिल्म डायरेक्टर के साथ असिस्टेंट डायरेक्टर का काम कर सकते हैं और धीरे-धीरे फिल्म के कलाओं को सिखते हुए और फिल्म इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनाते हुए एक अच्छा फिल्म डायरेक्टर बन सकते हैं |

याद रखिये फिल्म संस्थान में जा कर पढाई करने में पैसा लगता है साथ ही साथ समय भी लगता है | यदि आपके पास इतना पैसा नहीं है और समय नहीं है तो कोई बात नहीं | फिल्म इंडस्ट्री में हजारों लोग हैं जो फिल्म संस्थान से पढाई नहीं किये वगैर बहुत अच्छा काम किये हैं और कर रहे हैं और आज उनके पास नाम, शोहरह और पैसा है | आप फिल्म इंडस्ट्री में लोगों से संपर्क कर सकते हैं और किसी फिल्म डायरेक्टर के साथ असिस्टेंट डायरेक्टर का काम कर सकते हैं | समय के साथ कुछ वर्षों में आप फिल्म के कलाओं को सिख जायेंगे और फिल्म इंडस्ट्री में कई लोगों से आपकी जान पहचान भी जो जायेगी |

फिल्म इंडस्ट्री में जाने से पहले कुछ और बातों की जानकारी का होना आवश्यक है | फिल्म की शूटिंग शिफ्ट और समय से होती है मगर शूटिंग दिन में भी होती है और रात में भी | कई बार शूटिंग लगातार 24 घंटे से भी ज्यादा होती है | शूटिंग के लिए कई दिनों तक घर से बाहर रहना पड़ सकता है क्योंकी शूटिंग फिल्म स्टूडियो के अलावे दुसरे शहर, गांव, पहाड़, जंगल, मरुस्थल इत्यादि जगहों पर होती है | मतलब आपको बहुत ज्यादा यात्रा करना पड़ सकता है | आप अपने घर परिवार से दूर रहेगें |

फिल्म डायरेक्टर एक बहुत ही सम्मानित पद है | इसमें नाम और शोहरत के साथ पैसा भी है | आपके अन्दर एक लगन और टारगेट होनी चाहिए क्योंकि इसके बिना आप कुछ भी नहीं कर सकते हैं | फिल्म इंडस्ट्री दूर से बहुत ही लुभावना लगता है मगर अन्दर एक संघर्ष है | कोई भी चीज आपको आसानी से नहीं मिलेगी | पूरा मन बनाकर फिल्म इंडस्ट्री में जाईये, ईमानदारी के साथ परिश्रम कीजिये और आपको लक्ष्य प्राप्त होगा |

by Sudhir Kumar

  Mon, Jun 24, 2019     Administrator India  
Administrator India